Agro Haryana

Retirement Planning: सीनियर सीटिजन के लिए लागू हुई FD की नई स्कीम, अब मौज में काट सकते है बुढ़ापा

Retirement Planning: हर कोई इंसान अपने बुढ़ापे के लिए पैसा जोड़ना चाहता है कि उसका बुढ़ापा अच्छे से कट जाएं. आप भी अपना बुढ़ापा मजे से काटना चाहते है तो आपको एफडी में निवेश करने का ऐसा तरीका बताने जा रहें है जिसमें आप दोगुना ब्याज पा सकते है. साथ में टैक्स का भी बचाव होगा. आइए जानते है इस स्कीम के बारें में...
 | 
सीनियर सीटिजन के लिए लागू हुई FD की नई स्कीम, अब मौज में काट सकते है बुढ़ापा
Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली: ज्‍यादातर निवेशकों का मानना है कि शेयर बाजार और इक्विटी में निवेश करना युवाओं का काम है. बुजुर्गों और 50 पार कर चुके निवेशकों को FD, रिकरिंग और एनएससी जैसे परंपरागत विकल्‍पों में ही पैसे लगाने चाहिए. 

इस पर हमने निवेश के एक्‍सपर्ट से बात की तो उन्‍होंने कई अहम जानकारियां दीं. इससे स्‍पष्‍ट हो जाता है कि उम्रदराज और रिटायरमेंट के करीब पहुंच चुके निवेशकों को भी क्‍या शेयर बाजार और इक्विटी की तरफ रुख करना चाहिए.

निवेश एवं टैक्‍स मामलों के जानकार बलवंत जैन का कहना है कि उम्रदराज निवेशकों को इस मान्‍यता से बाहर आना चाहिए. उनके पास अपने फंड से बेहतर रिटर्न कमाने का मौका भी रहता है. मेरा तो ये मानना है. 

कि सिर्फ इक्विटी ही वह विकल्‍प है, जो रिटायरमेंट को चैन से काटने लायक फंड देता है. एफडी जैसे विकल्‍पों में तो जो भी रिटर्न आएगा, उस पर टैक्‍स कटने के बाद निगेटिव हो जाएगा. इसका रिटर्न महंगाई दर के आसपास ही रहता है.

क्‍यों सही है इक्विटी का विकल्‍प-

बलवंत जैन का कहना है कि जो लोग 50 साल के पार हो गए हैं और अभी तक रिटायरमेंट के लिए फंड नहीं बनाया तो इक्विटी ही एकमात्र ऐसा विकल्‍प है, जो आपको जल्‍दी फंड जुटाने में मदद करेगा. 

50 साल पूरे करते-करते आप ज्‍यादातर जिम्‍मेदारियों से मुक्‍त हो चुके होंगे और लोन वगैरह भी चुका दिया होगा. ऐसे में आक्रामक निवेश रणनीति भी अपना सकते हैं.

और अपने पैसों पर थोड़ा जोखिम उठाते हुए जबरदस्‍त रिटर्न प्राप्‍त कर सकते हैं. हां, ये ध्‍यान रखें कि सीधे बाजार में लगाने के बजाए सिप के जरिये हर महीने निवेश करें, क्‍योंकि हर महीने सैलरी आने पर आपके लिए यह आसान भी होगा.

क्‍यों नहीं होगा निवेश पर जोखिम-

दरअसल, 50 साल पार कर चुके लोगों के पास भी रिटायरमेंट तक 10 साल का टाइम रहता है और इक्विटी में 7 साल से ज्‍यादा का निवेश किया है तो कभी आपका पैसा डूबेगा नहीं आपको नुकसान नहीं होगा. 

इक्विटी ही एक जरिया है जो रिटायरमेंट के नजदीक पहुंचकर आप पैसा जमा कर सकते हैं. इतना ही नहीं 10 साल से ज्‍यादा की अवधि में 12 फीसदी से ज्‍यादा का रिटर्न भी मिल जाएगा.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like