Agro Haryana

कभी ठेला लगाकर बेचते थे फूलों के पौधे, अब हर महीने कमा रहे लाखों रुपये

वे कभी दूसरे की नर्सरी से पौधा लेकर ठेला पर घूम-घूम कर बेचते थे. जबकि, अब वे अपनी पत्नी के सहयोग से कटिहार में शानदार नर्सरी चला रहे हैं. फिलहाल उनकी नर्सरी में गेंदा फूल की कई वैरायटी है, जिसे खरीदने के लिए हर दिन लोगों की भीड़ रहती है.

 | 
कभी ठेला लगाकर बेचते थे फूलों के पौधे, अब हर महीने कमा रहे लाखों रुपये

Agro Haryana, New Delhi कभी गेंदा फूल के मामले में कटिहार जिला कोलकाता पर पूरी तरह आश्रित था. मगर इस बार कटिहार के मोंगरा के रहने वाले एक युवक ने अपने दम पर न सिर्फ गेंदा फूल की अच्छी खेती की है, बल्कि गेंदा का पौधा बेचकर भी सद्दाम अच्छा कारोबार कर रहे हैं.

वे कभी दूसरे की नर्सरी से पौधा लेकर ठेला पर घूम-घूम कर बेचते थे. जबकि, अब वे अपनी पत्नी के सहयोग से कटिहार में शानदार नर्सरी चला रहे हैं. फिलहाल उनकी नर्सरी में गेंदा फूल की कई वैरायटी है, जिसे खरीदने के लिए हर दिन लोगों की भीड़ रहती है.

सद्दाम बताते हैं कि इस सीजन में इनके गेंदा फूल का पौधा सिर्फ कटिहार ही नहीं, बल्कि पूर्णिया, अररिया, नवगछिया के साथ-साथ अन्य जिले तक सप्लाई किया जा रहा है. सद्दाम आज कटिहार वन विभाग के साथ-साथ जीविका का सबसे बड़ा पौधा सप्लायर भी हैं.

फिलहाल लगभग दो एकड़ में गेंदा की खेती से इस इलाके के फिजा को खूबसूरत बना रहे हैं. अपने दम पर हालात को बदलने की सद्दाम की कोशिश को लेकर उनकी चर्चा दूर-दूर तक हैं. सद्दाम कहते हैं कि कि उन्होंने अपनी नर्सरी में लगभग दर्जनों लोगों को रोजगार भी दिया है.

ठीक ठाक हो जाती है कमाई
सद्दाम कहते हैं कि वह गेंदा फूल की बागवानी से बेहद संतुष्ट हैं और अच्छा मुनाफा भी कमा रहे हैं. साथ ही उनके यहां रोजगार करने वाले लगभग एक दर्जन लोगों को भी ठीक-ठाक कमाई हो रही है.

वहीं उनकी पत्नी फातिमा खातून कहती हैं कि नर्सरी के काम में वहअपने पति काभरपूर हाथ बंटाती है. यही कारण है कि वे लोग आज इस मुकाम तक पहुंचे हैं.दो एकड़ में खुद का नर्सरी चला कर दर्जनों लोगों को रोजगार दिए हैं.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like