Agro Haryana

UP में घर बनाने से पहले जान लें ये रूल, सरकार ने नियमों में किया बड़ा बदलाव

UP News: हाल ही में अपडेट नियमों के अनुसार आपको बता दें कि यूपी में राज्य सरकार के द्वारा संशोधित करने का निर्णय लिया गया था.कि अगर क्षेत्र की लंबाई 300 से 500 वर्गमीटर है तो आवासीय भवनों का निर्माण 15 से 17.50 मीटर ऊंचाई तक किया जा सकता है. अब पहले की तरह 1.5 मीटर चौड़ाई के छज्जे के निर्माण की अनुमति नहीं दी जाएगी. अब यूपी में घर बनाने से पहले इन रूल को जरूर जान लें. नहीं तो परेशानी हो सकती है. आइए जानते है नीचे खबर में...
 | 
UP में घर बनाने से पहले जान लें ये रूल, सरकार ने नियमों में किया बड़ा बदलाव
Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली: नए नियमों के अनुसार अब भवन में अधिकतम 75 सेंटीमीटर (ढाई फीट) चौड़ाई के ही छज्जे का निर्माण किया जा सकेगा। 

राज्य सरकार द्वारा गुरुवार को जारी की गई संशोधित भवन निर्माण एवं विकास उपविधि-2008 के तहत अब पहले की तरह 1.5 मीटर चौड़ाई के छज्जे के निर्माण की अनुमति नहीं होगी। अब भूतल पर पार्किंग के लिए दो मीटर ऊंचाई का स्टिल्ट फ्लोर बनाने पर 12.50 मीटर ऊंचाई में एक अतिरिक्त मंजिल का निर्माण कराया जा सकेगा।

चार्जिंग स्टेशन बनाने की व्यवस्था होगी सुनिश्चित

इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए भवनों में चार्जिंग स्टेशन बनाने की व्यवस्था भी उपविधि से सुनिश्चित की जाएगी। विकास प्राधिकरण व परिषद (Development Authority and Council) से भवन निर्माण के लिए आनलाइन पोर्टल के माध्यम से जमा किए गए मानचित्र में त्रुटियों को 15 दिन में दूर न करने पर अब मानचित्र स्वतः निरस्त हो जाएगा। बिल्डरों को आंशिक पूर्णतः प्रमाण-पत्र जारी करने की सुविधा भी दी गई है।

यह प्रावधान जानिये

डेढ़ दशक पुरानी भवन निर्माण एवं विकास उपविधि-2008 के तमाम प्रविधानों को संशोधित करने का निर्णय पिछले दिनों सरकार ने किया था।

आवास एवं शहरी नियोजन के अपर मुख्य सचिव नितिन रमेश गोकर्ण ने गुरुवार को विकास प्राधिकरणों के उपाध्यक्षों और आवास आयुक्त को संशोधित उपविधि भेजते हुए निर्देश दिया है कि वे अपने-अपने बोर्ड से इसे अनुमोदित कराते हुए तत्काल इसका अनुपालन सुनिश्चित करें।

इस तरह होगा निर्माण

संशोधित उपविधि के अनुसार 300 वर्गमीटर से कम क्षेत्रफल वाले भवन में पार्किंग के लिए दो मीटर ऊंचाई के स्टिल्ट फ्लोर का निर्माण कराया जा सकेगा। ऐसे में 10.50 से 12.50 मीटर ऊंचाई तक भवन का निर्माण कराया जा सकेगा। 

इसी तरह यदि भूखंड का क्षेत्रफल 300 से 500 वर्गमीटर है तो बहु आवासीय भवनों का निर्माण 15 से 17.50 मीटर ऊंचाई तक किया जा सकेगा। उपविधि में पहली बार धर्मकांटा, मोबाइल टावर और भवनों में 5जी नेटवर्क की स्थापना के संबंध में व्यवस्था की गई है।

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like