Agro Haryana

Personal Loan लेने से पहले जान ले ये सात बाते, EMI भरने में नहीं होगी दिक्कत

Personal Loan - देश में सबसे ज्यादा पर्सनल लोन लिए जाते हैं, लेकिन आपको बता दें कि अगर पर्सनल लोन लेने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखा जाए तो बैंक आपसे मनमाना ब्याज नहीं वसूल पाएंगे। इससे आपकी ईएमआई का बोझ कम होगा और आपको जल्द लोन चुकाने में भी मदद मिलेगी... 
 | 
Personal Loan लेने से पहले जान ले ये सात बाते, EMI भरने में नहीं होगी दिक्कत

Agro Haryana, New Delhi: बैंकबाजार डॉटकॉम की एक हालिया रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि होम लोन के बाद देश में सबसे ज्‍यादा पर्सनल लोन लिया जाता है. बैंक भी ग्राहकों को खुशी-खुशी यह लो दे देते हैं,

क्‍योंकि इस पर ब्‍याज दर जमकर वसूल पाते हैं. लेकिन, पर्सनल लोन लेने से पहले कुछ बातों का ध्‍यान रखा जाए तो बैंक आपसे मनमाना ब्‍याज नहीं वसूल सकेंगे. इससे आपकी ईएमआई का बोझ कम रहेगा और जल्‍द कर्ज चुकाने में भी मदद मिलेगी.

आज कल पर्सनल लोन मिलना आसान है. अब पहले की तरह बैंक में इंतज़ार करने की जरुरत नहीं पड़ती. बस मोबाइल से लोन के लिए आवेदन किया, ज़रूरी दस्तावेज़ जमा किये और कुछ घंटों के अंदर पैसा बैंक अकाउंट में. अगर आप भी पर्सनल लोन लेने जा रहे हैं तो कुछ बातें खुद से पूछिए और उसका सही जवाब आने पर ही कर्ज लेने बैंक में जाइये.

1. कितनी कमाई पर मिलता है लोन-

पर्सनल लोन के लिए व्‍यक्ति के पास निश्चित कमाई का स्रोत होना जरूरी है. बैंक पर्सनल लोन तभी देते हैं, जबकि आपके पास निश्चित कमाई का कोई ठोस साधन जरूर हो. नौकरीपेशा व्‍यक्ति के मामले में अमूमन 30 हजार रुपये की सैलरी मिलने पर ही पर्सनल लोन दिया जाता है. इसके अलावा रिटायर व्‍यक्ति को पर्सनल लोन देने से बैंक कतराते हैं.

2. लोन की जरूरत क्‍यों है-

पर्सनल लोन से पहले यह सवाल खुद से पूछें कि लोन की आवश्यकता क्यों है? यह मूल्यांकन करना जरूरी है कि, क्या आपको वास्तव में लोन की आवश्यकता है? क्या यह लोन आपकी जरूरत पूरी कर देगा और क्‍या लोन के बजाए दोस्‍तों या रिश्‍तेदारों से पैसे उधार लेकर आपका काम चल सकता है.

3. मुझे कितना लोन लेना चाहिए?

पर्सनल लोन लेने का अर्थ है नई लोन एग्रीमेंट का चयन करना और अपनी आवश्यकता से अधिक उधार लेने से बचना. इससे पहले कि आप किसी लोनदाता की तलाश शुरू करें, आप आवश्यक धनराशि की सटीक गणना कर लें. इससे पता चल जाएगा कि आपको कितना पैसा चाहिए. उसी हिसाब से आप आगे का प्रबंध करें.

4. लोन की अवधि क्या है?

पर्सनल लोन पर विचार करते समय लोन अवधि को समझना महत्वपूर्ण है. पर्सनल लोन की अवधि आमतौर पर 12 महीने से 60 महीने तक होती है. कुछ वित्तीय संस्थान अधिकतम 96 महीने की अवधि और न्यूनतम 6 महीने की अवधि भी देते हैं.

सही लोन अवधि का चयन करने से आपको अपनी विशिष्ट वित्तीय आवश्यकताओं और लोन चुकाने की क्षमता के अनुसार सही लोन लेने में मदद मिल सकती है. अगर ईएमआई का बोझ कम रखना है तो लंबी अवधि का लोन चुनें. हालांकि, छोटी अवधि के लोन पर ब्‍याज दर कम लगती है.

5. क्या आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है?

पर्सनल लोन के लिए आवेदन करने से पहले, अपना वर्तमान क्रेडिट स्कोर जानना अनिवार्य है. वैसे तो कोई न्यूनतम स्वीकार्य क्रेडिट स्कोर नहीं है लेकिन 750 या उससे ऊपर का स्कोर बनाए रखना अच्छा माना जाता है. इससे आपको कम ब्‍याज पर पर्सनल लोन लेने में आसानी होगी.

6. लोन मिलने में कितना समय लगेगा-

आपके आवेदन और लोन राशि के कारण आपको धनराशि प्राप्त करने से पहले थोड़ा इंतजार करना पड़ सकता है. लोन राशि प्राप्त करने में लगने वाला समय महत्वपूर्ण हो सकता है, खासकर जब आपके पास वित्तीय आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए समय कम हो. लिहाजा लोन मिलने की अवधि पर बैंक से पहले ही बातचीत कर लेना जरूरी होता है.

7. लोन के लिए जरूरी दस्‍तावेज-

पर्सनल लोन का आवेदन करने से पहले आपको लोनदाता को जरूरी डॉक्‍यूमेट उपलब्ध कराने होंगे. लोन का जल्द से जल्द डिस्बर्समेंट सुनिश्चित करने के लिए आपको दस्तावेज़ पहले से तैयार रखना चाहिए.

इन दस्तावेज़ों में आम तौर पर आईडी, आधार कार्ड, पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र आदि शामिल होते हैं. साथ में दो साल का आयकर रिटर्न (ITR) भी मांगा जाता है.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like