Agro Haryana

Success Story : OYO की नौकरी छोड़कर शुरु किया खुद का बिजनेस, आज है करोड़ों के मालिक

 Success Story : जीवन में सफल होने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती है. आज हम आपको एक ऐसी ही सफलता की कहानी के बारे में बताने जा रहे है जिन्होने OYO की नौकरी छोड़कर खुद का बिजनेस शुरु कर दिया और आज वह करोड़ों की कंपनी के मालिक है। आइए नीचे खबर में जानते है इनकी सफलता की कहानी के बारे में
 | 
 Success Story : OYO की नौकरी छोड़कर शुरु किया खुद का बिजनेस, आज है करोड़ों के मालिक

Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली : अगर हौसले बुलंद हों तो दुनिया की कोई ताकत कामयाब होने से नहीं रोक सकती। भारत में बड़े कारोबारियों के संघर्ष और सफलता की कहानी के सालों पुराने कई किस्से हैं.

जिन्हें सुनकर लगता है कि आज के जमाने में यह सब मुमकिन नहीं है लेकिन युवा उद्यमियों ने इस धारणा को गलत साबित कर दिया है.

आज हम बात कर रहे है अमन जैन की जिन्होने बहुत कम समय में सफलता हासिल (Success Story) की है। IIT हैदराबाद से इंजीनियरिंग की डिग्री लेने के बाद ही उनकी कामयाबी का सफर शुरू हो गया था।

उन्‍हें अमेरिका में माइक्रोसॉफ्ट ज्‍वाइन करने का ऑफर मिला। हालांकि, इसके बजाय उन्‍होंने IIM बेंगलुरु से मैनेजमेंट की पढ़ाई करने को तवज्‍जो दी। 

अमन जैन का यह फैसला बिल्‍कुल सही साबित हुआ। इससे बिजनेस को लेकर उनकी समझ का दायरा कई गुना बढ़ गया। आज वह एक सफल स्‍टार्टअप के संस्‍थापक हैं।

इस स्‍टार्टअप कंपनी का नाम Doodhvale है। आइए, यहां अमन और उनके स्‍टार्टअप की सफलता के बारे में जानते हैं।

6 साल से अधिक समय तक OYO में की नौकरी

बता दें कि 'दूधवाले' की नींव रखने से पहले अमन ने 6 साल से अधिक समय तक OYO में अलग-अलग पदों पर काम किया। यह अनुभव उन्‍हें अपना स्‍टार्टअप शुरू करने में बहुत काम आया।

OYO में अपने कार्यकाल के दौरान उन्‍होंने OYO टाउनहाउस की स्थापना और OYO विजार्ड लॉयल्टी प्रोग्राम के सफल शुभारंभ जैसी महत्वपूर्ण पहलों का नेतृत्व किया। इससे उन्हें हॉस्पिटैलिटी सेक्‍टर के साथ कंज्‍यूमर प्र‍िफरेंस की गहरी जानकारी मिली।

इस तरह आया Doodhvale का आइडिया

जब भी कहीं नई जगह शिफ्ट होते है तो सही भोजन और पेय पदार्थ (food and beverages) को ढूंढना चुनौतीपूर्ण काम होता है। दिल्ली ट्रांसफर होने पर क्‍वालिटी डेयरी प्रोडक्‍ट्स को खोजने में हुई मशक्‍कत ने अमन को Doodhvale को शुरू करने का आइडिया दिया।

उन्‍होंने पाया कि डेयरी उत्‍पादों में शुद्धता की कमी है। लोग पैसे खर्च करने के बाद भी शुद्ध प्रोडक्‍ट नहीं पा रहे हैं। अमन और उनकी टीम ने शुद्ध डेयरी उत्पाद उपलब्ध कराने के लिए मिशन के तौर पर काम शुरू किया।

बहुत चुनौतियों का किया मुकाबला

कोई भी कारोबार शुरू करते है तो उसमें चुनौतियां तो होती ही है।  डेयरी उद्योग में कई चुनौतियां (Challenges in Dairy Industry) हैं। उत्पादों का खराब होना और लॉजिस्टिक्स के चैलेंज उनमें सबसे प्रमुख हैं।

इन चुनौतियों के बावजूद अमन और उनकी टीम ताजा और शुद्ध डेयरी उत्पादों को कुशलतापूर्वक वितरित करने की अपनी प्रतिबद्धता में अडिग रही। इस साल 'दूधवाले' की 80% से अधिक ग्रोथ उनके समर्पण और रणनीतिक दृष्टिकोण को दर्शाने के लिए काफी है।

इतना है टर्नओवर

ताजा और शुद्ध डेयरी उत्पाद (Fresh and pure dairy products) उपलब्ध कराने की दूधवाले की प्रतिबद्धता उपभोक्ताओं को पसंद आई है। गुणवत्ता, विश्वसनीयता और ग्राहक संतुष्टि पर कंपनी के जोर ने उसे मजबूत ग्राहक आधार बनाने में मदद की।

30 करोड़ के टर्नओवर के साथ 'दूधवाले' डेयरी उद्योग में एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी के रूप में उभरी है। यह स्‍टार्टअप कंपनी स्‍थापित ब्रांडों को चुनौती दे रही है। साथ ही नए स्‍टैंडर्ड सेट कर रही है।

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like