Agro Haryana

गरीब यात्रियों के लिए रेलवे ने लिया बड़ा फैसला, अब ले सकेंगे वंदे भारत जैसी ट्रैन का मजा

Railway News: भारतीय रेलवे ने गरीब यात्रियों के लिए एक बड़ा अपडेट जारी किया है। जिसके मुताबिक देश के गरीब तबके के लोगों को भी अब वंदे भारत ट्रेन जैसी सुविधा मिलेगी। ये एक नॉन एसी ट्रेन होगी पर इसकी स्पीड वंदे भारत ट्रेन जैसी ही होने वाली है। इस ट्रेन में यात्रियों को 3-लेवल स्लीपर कोचों की भी सुविधा मिलेगी। 
 | 
गरीब यात्रियों के लिए रेलवे ने लिया बड़ा फैसला, अब ले सकेंगे वंदे भारत जैसी ट्रैन का मजा
Agro Haryana, New Delhi: देश के गरीब तबके के लिए भारत सरकार वंदे भारत की तर्ज पर जल्द ही वंदे साधारण ट्रेन लेकर आने वाली हैं. जिसका नाम वंदे साधारण या वंदे अंत्योदय होगा. यह एक नॉन एसी ट्रेन होगी हालांकि इसकी स्पीड वंदे भारत जैसी होगी.

 एक्सप्रेस ट्रेनों के ऑपरेशन में तेजी लाने के बाद, भारतीय रेलवे अब अपग्रेडिड सेकंड क्लास अनरिजर्व और सेकंड क्लास 3-लेवल स्लीपर कोचों के साथ एक नई वंदे साधारण ट्रेन का निर्माण करने के बारे में विचार कर रहा है.

वंदे भारत जैसी होंगी कुछ सुविधाएं

नई ट्रेन का नाम अभी तय नहीं किया गया है, लेकिन इस ट्रेन का नाम वंदे साधारण या वंदे अंत्योदय रखे जाने की संभावना है. जो इस बात की ओर इशारा कर रही हैं कि यह ट्रेनें आम आदमी की बेहतर यात्रा के लिए बनाई जाएंगी.

 एक अधिकारी ने मीडिया रिपोर्ट में कहा कि नई वंदे साधारण एक्सप्रेस में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों की तरह कुछ सुविधाएं दी जाएंगी. लेकिन वंदे भारत और वंदे साधारण ट्रेन में सबसे बड़ा फर्क ये है कि वंदे भारत एक्सप्रेस दोनों ओर से ऑटोमेटिक ट्रेन है

वहीं दूसरी ओर वंदे साधारण को लोको से चलाया जाएगा. समस्या यह है कि अधिकतर ट्रेनें एक लोकोमोटिव द्वारा खींची जाती हैं, इसमें दोनों छोर पर लोकोमोटिव होंगे.

ये मिलेगी सुविधाएं

महत्वपूर्ण बात यह है कि प्रत्येक छोर पर एक लोकोमोटिव के साथ, ट्रेन की स्पीड बढ़ाने के लिए पुश-पुल तकनीक का यूज किया जाएगा. इससे टर्मिनेटिंग स्टेशन पर लोकोमोटिव रिवर्सल की आवश्यकता भी खत्म हो जाएगी, जिससे टर्नअराउंड टाइम कम हो जाएगा.

 एलएचबी ट्रेन में 2 सेकेंड लगेज, गार्ड और दिव्यांग-फ्रेंडली कोच, 8 सेकेंड क्लास अनरिजर्व कोच और 12 सेकेंड क्लास 3-टीयर स्लीपर कोच होंगे. सभी कोच नॉन-एसी होंगे.

यहां तैयार हो रहा है प्रोटोटाइप

नई वंदे साधरण ट्रेन के इंजनों का निर्माण चितरंजन लोकोमोटिव वर्क्स (सीएलडब्ल्यू) में किया जा रहा है और ट्रेन के डिब्बे चेन्नई में इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आईसीएफ) में बनाए जाएंगे. 

आईसीएफ भारतीय रेलवे की एकमात्र कोच फैक्ट्री है जो मौजूदा समय में वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेनों का निर्माण कर रही है. रेलवे के एक अधिकारी ने मीडिया रिपोर्ट में कहा कि नई ट्रेन का प्रोटोटाइप इस साल के अंत तक तैयार होने की उम्मीद है, रेलवे बोर्ड ने अक्टूबर तक का टारगेट रखा है.

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like