Agro Haryana

अब इस तरीके से कटेगा Toll Tax, टोल प्लाजा और fastag होगा खत्म

Nitin Gadkari : लोगों की सहूलियत के लिए सरकार ने टोल प्लाजा पर टोल टैक्स काटने के लिए fastag को शुरू किया था। जानकारी के मुताबिक बता दें कि अब जल्द ही सरकार इसे बंद करने जा रही है। जिसके बाद से अब नए तरीके से टोल टैक्स कटेगा। आइए नीचे खबर में जानते है-  
 | 
अब इस तरीके से कटेगा Toll Tax, टोल प्लाजा और fastag होगा खत्म     

Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली:  टोल टैक्स (toll tax) देने के लिए पहले पैसों का इस्तेमाल किया जाता था जिससे लोगों के समय की बहुत बर्बादी होती थी और इसके लिए बाद में सरकार ने फास्टैग की शुरुआत की थी, पर अब Fastag को भी बंद करने की खबरें काफी समय से आ रही है।

नेशनल हाईवे पर टोल टैक्स पर अब न तो लाइन में इंतजार करना होगा, न ही फास्टैग (fastag news) के झंझट के जूझना होगा. आने वाले दिनों पर आपको हाईवे पर टोल प्लाजा भी नहीं दिखेंगे. सरकार हाईवे पर टोल प्लाजा (Toll Plaza) को खत्म करने की तैयारी कर रही है.

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (nitin gadkari) ने कहा कि जल्द ही नया टोल सिस्टम आने वाला है. टोल टैक्स के लिए टोल प्लाजा की जरूरत नहीं होगी. टोल बैरियर्स नहीं होंगे.

टोल प्लाजा नहीं होंगे तो फास्टैग का झंझट भी खत्म हो जाएगा. ऐसे में टोल टैक्स के लिए नया टोल सिस्टम लागू होगा.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कि सेटेलाइट आधारित टोल सिस्टम ( Satellite-Based) होंगे, जिनकी मदद से टोल टैक्स कटेगा. टोल टैक्स सेटेलाइट के जरिए होगा, जो सीधे आपके बैंक अकाउंट से कट जाएगा. 

नए टोल सिस्टम में सैटेलाइट की मदद से टोल टैक्स कटेगा. सीधा आपके बैंक अकाउंट (bank account) से टोल टैक्स कट जाएगा. टोल टैक्स काटने के लिए GPS और कैमरे का उपयोग किया जाएगा.  

GPS-Based टोल कलेक्शन का एक पायलट रन चल रहा है. जीपीएस और कैमरे की मदद से आपके वाहन ने जितनी दूरी तय की है, उसके हिसाब से टोल टैक्स (toll tax big news) सीधे बैंक अकाउंट से कट जाएगा.

गाड़ी ने कितनी दूरी तय की है और कितना टोल लगेगा ये सब जानकारी जीपीएस की मदद से जुटाई जाएगी.  

पहले टोल टैक्स पर कैश पेमेंट से टोल टैक्स देना पड़ता था.इसके बाद सरकार फास्टैग की व्यवस्था लेकर आई. जिसके बाद  फास्टैग की मदद से टोल टैक्स कटने लगे.

फरवरी 2015 के बाद फास्टैग को अनिवार्य बना दिया गया. हाल ही में एनएचएआई ने फास्टैग के लिए केवाईसी को अनिवार्य कर दिया है. 1 अप्रैल से बिना केवाईसी वाले फास्टैग इनएक्टिव या ब्लैकलिस्ट हो जाएंगे. फास्टैग के बिना आपको दोगुना टोल टैक्स भरना होगा.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like