Agro Haryana

SIP में कम पैसे से निवेश करके बनाए लाखों, जानिए आवेदन करने का तरीका

SIP - आज के समय में हर कोई कम पैसे और समय से ज्यादा पैसा बनाना चाहता है। इसके चलते आज हम आपको एसआईपी यानि सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के बारे में जानकारी देंगे। SIP में आप कम पैसे से निवेश करके लाखों तक बना सकते हैं। चलिए नीचे खबर से जानते हैं एसआईपी में आवेदन करने का तरीका-
 | 
SIP में कम पैसे से निवेश करके बनाए लाखों
Agro Haryana, Digital Desk -नई दिल्ली: बचत करने की आदत अच्छी होती है लेकिन ज्यादातर नौकरीपेशा लोग सही फाइनेंशियल प्लानिंग के अभाव में अपनी सैलरी से कुछ भी बचत नहीं कर पाते हैं. 

आज हम आपको एक ऐसे ऑप्शन के बारे में बता रहे हैं, जिसमें आप सैलरी में से छोटी-सी रकम हर महीने निवेश करके अच्छा रिटर्न प्राप्त कर सकते हैं. इससे आपकी बचत भी होगी और जरूरत के समय काम लेने के लिए आपके पास पूंजी भी सुरक्षित होगी.

दरअसल, हम SIP यानी सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान की बात कर रहे हैं. एसआईपी को निवेश करने के लिए सबसे बेहतर ऑप्शन माना जाता है. इसमें आपको कम पैसे में निवेश का ऑप्शन मिलता है इसलिए आपकी जेब पर भी इसका ज्यादा असर नहीं पड़ता है. 

विशेष रूप से जो लोग लंबे समय के लिए निवेश करना चाहते हैं, उनके लिए ये सबसे अच्छा तरीका है. एसआईपी में लंबी अवधि के निवेश पर आपको कम्पाउंडिंग बेनिफिट मिलता है, जिससे रिटर्न कई गुना बढ़ जाता है.

क्या है एसआईपी?

एसआईपी अर्थात सिस्टमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान म्यूचुअल फंड में निवेश करने का एक तरीका है. इसमें आप छोटी और आसान किश्तों में निवेश कर सकते हैं. इसके लिए आप साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक या छह महीने के आधार पर निवेश करने के प्लान चुन सकते हैं. 

एसआईपी के माध्यम से म्यूचुअल फंड में निवेश करने के लिए कोई बड़ी रकम की जरूरत नहीं होती. इसमें आप 100 या 500 रुपये से भी निवेश की शुरुआत कर सकते हैं.

कैसे करें निवेश की शुरुआत?

एसआईपी में निवेश करने का प्रोसेस बहुत आसान होता है. इसमें आपके बैंक अकाउंट को इन्वेस्टमेंट अकाउंट से लिंक कर दिया जाता है. आप निवेश के लिए जो प्लान चुनते हैं, उसके मुताबिक एक निश्चित तारीख को इस अकाउंट में से पैसे अपने आप कट जाते हैं. 

आपको म्यूचुअल फंड में निवेश करने से पहले केवाईसी का प्रॉसेस पूरा करना होता है. इसके लिए आपको पैन कार्ड और आधार कार्ड की जरूरत पड़ती है.

निवेशकों का सबसे भरोसेमंद ऑप्शन-

शेयर मार्केट में सीधे इक्विटी शेयर में निवेश की तुलना में म्यूचुअल फंड में निवेश करने में जोखिम कम होता है. इसलिए शेयर मार्केट में चलने वाले तमाम उतार-चढ़ावों के बावजूद एसआईपी पर निवेशकों का भरोसा बरकरार है. 

एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया के आंकड़ों के मुताबिक देश में अगस्त 2022 तक एसआईपी अकाउंट्स की संख्या बढ़कर 5.71 करोड़ हो गई हैं। एसआईपी में रिटर्न आपके द्वारा निवेश की जा रही राशि पर निर्भर करता है. 

निवेश की राशि को आप अपनी सुविधानुसार घटा या बढ़ा सकते हैं. वहीं किसी महीने में यदि आप एकसाथ ज्यादा राशि भी इसमें जमा करना चाहें तो वो भी कर सकते हैं.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like