Agro Haryana

PPF स्कीम में निवेश करने पर मिलेगा दोगुना लाभ, यहां समझे पूरा गणित

PPF Calculator: आज के समय में हर कोईल ऐसी स्कीम में निवेश करना चाहता है. जहां पर निवेशकों को अच्छा रिटर्न मिल सकें तो  आज हम आपको ऐसी सरकारी स्कीम के बारे में बताने जा रहे है. जिसमे निवेश करके आप दोगुना लाभ पा सकते है तो आइए यहां समझते है पूरा गणित...
 | 
PPF स्कीम में निवेश करने पर मिलेगा दोगुना लाभ
Agro Haryana, digital Desk- New Delhi: क्या आप निवेश शुरू करना चाहते हैं या ब्याज से अच्छी कमाई का रास्ता ढूंढ रहे हैं। या फिर आप एक ऐसे निवेश विकल्प की तलाश कर रहे हैं जो बाजार से जुड़ा न हो और आपको गारंटीशुदा रिटर्न और निश्चित आय प्रदान करता हो।

ऐसे में पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी पीपीएफ सबसे अच्छे विकल्पों में से एक है. पब्लिक प्रोविडेंट फंड (Public Provident Fund) स्कीम सबसे बढ़िया है. भारत का कोई भी नागरिक पीपीएफ में निवेश कर सकता है और डाकघर या बैंक में अपना खाता खोल सकता है। 

भारत का कोई भी नागरिक इसमें निवेश कर सकता है. सबसे बड़ी बात ये है कि इसमें मिलने वाले बेनिफिट्स सबकी पसंद बने हुए हैं. PPF में निवेश करने के फायदे बैंक और पोस्ट ऑफिस (Post Office scheme benefits) खुद बताते हैं.

बढ़िया ब्याज (PPF Interest rate), टैक्स फ्री इन्वेस्टमेंट (Tax free investment), मैच्योरिटी पर मिलने वाला पैसा पूरी तरह से आपका. निवेश के नजरिए से बेहतरीन टूल है. 

मैच्योरिटी पीरियड 15 साल है. लेकिन, 15 साल के बाद भी निवेश को एक्सटेंशन दे सकते हैं. अगर एक्सटेंशन देंगे तो आपका रिटर्न ही रॉकेट बन जाएगा और 5000 रुपए का शुरुआती निवेश 26 लाख से ज्यादा हो जाएगा.

इन 3 बातों का ख्याल रख बन जाएंगे मालामाल

बता दें कि मैच्योरिटी के समय 3 ऑप्शन आपको मिलते हैं. इन 3 ऑप्शन को समझना बहुत जरूरी है. पहला मैच्योरिटी के बाद अपना पैसा निकाल लें. दूसरा अगर विड्रॉल नहीं करेंगे तो भी ब्याज मिलता रहेगा. तीसरा नए निवेश के साथ 5 साल के लिए एक्टेंशन दे सकते हैं. आइये समझते हैं कैसे और क्या करना होगा....

1. मैच्योरिटी पर निकाल लें पूरी राशि

पीपीएफ अकाउंट की मैच्योरिटी पर आपकी तरफ से जमा रकम और ब्याज को निकाल लें. अकाउंट क्लोजर की स्थिति में पूरा पैसा आपके अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया जाएगा. 

मैच्योरिटी पर मिलने वाला पैसा और ब्याज पूरी तरह से टैक्स फ्री होगा. इसके अलावा हर साल 1.5 लाख तक के निवेश पर इनकम टैक्स में छूट मिलती है. पूरे टैन्योर में आपने जो भी पैसा जमा किया होगा उस पर भी कोई टैक्स नहीं देना होगा.

2. 5 साल के लिए और बढ़ाएं PPF निवेश

इसका दूसरा ऑप्शन है मैच्योरिटी के बाद निवेश (investment after maturity) को बढ़ाना. आपको इस स्कीम में 5-5 साल के टेन्योर में अकाउंट एक्सटेंशन का ऑप्शन दिया जाता है. 

हालांकि, अगर आप अगले 5 साल के लिए एक्सटेंशन चाहते हैं तो PPF अकाउंट की मैच्योरिटी से 1 साल बैंक या पोस्ट ऑफिस को बताना होगा. अच्छी बात ये है कि एक्सटेंशन के वक्त प्री-मैच्योर विड्रॉल का नियम लागू नहीं होता और आप कभी भी पैसा निकाल सकते हैं.

3. मैच्योरिटी की अवधि समाप्त होने के बाद भी बिना निवेश बढ़ाएं स्कीम

यदि आप ऊपर के दोनों विकल्प नहीं चुनते है तो PPF अकाउंट में तीसरा ऑप्शन है कि अकाउंट मैच्योरिटी के बाद चलता रहेगा. इसमें नए निवेश की जरूरत नहीं होगी. 

मैच्योरिटी अपने आप ही 5 साल के लिए बढ़ जाएगी. लेकिन, सबसे बड़ा फायदा ये होगा कि इस पूरे पीरियड में आपको जमा रकम पर ब्याज मिलता रहेगा. इसके बाद 5 साल पूरा होने पर फिर से इसे ऐसे ही बढ़ाया जा सकता है.

जानिए कहां खोल सकते हैं अपना PPF अकाउंट?

आप अपना पीपीएफ अकाउंट (PPF account) किसी भी सरकारी या प्राइवेट बैंक में खुलवा सकते है. इसके अलावा अपने शहर के किसी भी पोस्ट ऑफिस ब्रांच में भी अकाउंट खुलवा सकते हैं. 

बता दें कि नाबालिग के अकाउंट खोलने का भी ऑप्शन होता है. हालांकि, नाबालिग की तरफ से पैरेंट्स की होल्डिंग 18 साल तक रहती है. फाइनेंस मिनिस्ट्री के नियमों के अनुसार, एक हिंदू अविभाजित परिवार (HUF) PPF अकाउंट नहीं खुलवा सकते.

जान लें 5 हजार के कैसे बनेंगे 26.63 लाख रुपए?

जानकारी के लिए बता दें कि PPF में फिलहाल 7.1% ब्याज मिल रहा है. ब्याज की गणना (calculation of interest in PPF) सालाना होती है. लेकिन, इसे तिमाही आधार पर तय किया जाता है. 

पिछले काफी टाइम से इसकी ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं हुआ है. मान लेते हैं कि अगर आप 15 या 20 साल के लिए इसी ब्याज दर पर निवेश करते हैं तो अलग-अलग अमाउंट पर बड़ा कॉर्पस तैयार होगा. 

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like