Agro Haryana

बचाना चाहते है मोटा टैक्स तो Post Office की इस स्कीम में करे निवेश

Post Office:  आपको बता दें कि नया वित्त वर्ष शुरू होने में कुछ ही दिन बचे है. ऐसे में लोग टैक्स बचाने के लिए कई तरीके अपनाते है. अगर आप टैक्स बचाना चाहते है तो पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में निवेश करके मोटा टैक्स बचा सकते है तो आइए जानते है इस स्कीम के बारे में...
 | 
 बचाना चाहते है मोटा टैक्स तो Post Office की इस स्कीम में करे निवेश
Agro Haryana, digital Desk- New Delhi:अगर आप रकम को 5 साल की इस स्‍कीम में निवेश करना चाहते हैं तो आपको इससे जुड़े कुछ नियम को समझ लेना चाहिए.

7.7 फीसदी मिल रहा है ब्‍याज

NSC में मौजूदा समय में 7.7 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है. ब्‍याज की गणना सालाना आधार पर होती है. हालांकि रकम का भुगतान आपको मैच्‍योरिटी पर होता है. अगर आप रकम को 5 साल की इस स्‍कीम में निवेश करना चाहते हैं तो आपको इससे जुड़े कुछ नियम को समझ लेना चाहिए.

5 साल से पहले सिर्फ इन स्थितियों में निकासी

अगर आप एनएससी में 5 साल के लिए रकम निवेश कर देते हैं तो इसे 5 साल से पहले नहीं निकाल सकते.  न ही इसमें कोई पार्शियल विड्रॉल हो सकता है. प्रीमैच्‍योर विड्रॉल की सुविधा आपको सिर्फ विशेष परिस्थितियों में ही मिलेगी.

जैसे अकाउंट होल्‍डर की मृत्‍यु की स्थिति में, जॉइंट अकाउंट में किसी एक अकाउंट होल्‍डर या सभी अकाउंट होल्‍डर्स की मृत्‍यु की स्थिति में, अदालत की ओर से आदेश जारी होने पर या जब्तीकरण की प्रक्रिया में, सिर्फ गजटेड अफसर द्वारा इसे भुनाया जा सकता है.

मैच्‍योरिटी के बाद भी रकम नहीं निकाली तो...

अगर 5 साल बाद एनएससी (NSC) मैच्‍योर हो जाती है, लेकिन फिर भी आप इसको नहीं भुनाते हैं, तो ये अपने आप रिन्‍यू नहीं होती है. इस स्थिति में मैच्‍योरिटी के बाद की अवधि में आपको एनएससी पर सामान्य सेविंग अकाउंट के हिसाब से ब्‍याज दिया जाता है और भी सिर्फ अगले दो साल तक ही दिया जा सकता है. 

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like