Agro Haryana

Gurugram News: हरियाणा के इस शहर में नहीं कर पाओगे बिजनेस, सरकार ने किया ये ऐलान

गुरुग्राम में बिजनेस करने वाले लोगों को बड़ा झटका मिला है। जहां अब लोग गुरुग्राम में लोग रिहायसी इलाकों में व्यापार नहीं कर सकेंगे। वहीं इसको लेकर DTP ने इन इलाकों पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है। तो चलिए जानते हैं पूरा मामला-
 | 
Gurugram News: हरियाणा के इस शहर में नहीं कर पाओगे बिजनेस, सरकार ने किया ये ऐलान

Agro Haryana, New Delhi  रिहायशी कॉलोनियों में दुकान और दफ्तर खोलने वाले मकान मालिक अब सावधान हो जाएं। गुरुग्राम के जिला नगर योजनाकार एन्फोर्समेंट (डीटीपी) ने आवासीय कॉलोनियों के मकानों में व्यावसायिक गतिविधियां चलाने पर शिकंजा कस दिया है।

डीटीपी ने जिले की आठ कॉलोनियों के ऐसे 35 मकान मालिकों के खिलाफ गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर से एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की गई है। डीटीपी प्रवर्तन की जांच में मकान मालिकों द्वारा नियमों का उल्लंघन पाया गया। इसमें डीएलएफ फेज-1, 3, सेक्टर-82/83 स्थित वाटिका इंडिया, सुशांत लोक फेज-2 और 3, उप्पल साउथ एंड, साउथ सिटी एक कॉलोनी शामिल है।

इसके अलावा गोल्फकोर्स रोड के रिहायशी मकानों में चल रही व्यावसायिक गतिविधियों पर भी शिकंजा कसने के लिए गुरुग्राम पुलिस कमिश्नर को पत्र लिखकर एफआईआर दर्ज करने की सिफारिश की है। डीटीपी ने इन मकान मालिकों को विभाग की तरफ से पहले ही कारण बताओ नोटिस देकर जवाब मांगा था। इनकी तरफ से न तो विभाग में कोई संतोषजनक जवाब दिया गया और न ही गतिविधियां बंद की गईं।

इसके चलते अब कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी गई है। डीटीपी प्रवर्तन विभाग की टीमें शहर के अन्य आवासीय कॉलोनियों के मकानों का सर्वे कर रही हैं। सूची बनाकर डीटीपी कार्यालय में जमा कराए जाएंगे।

डीटीपी विभाग के सर्वे में नियमों का उल्लंघन मिला

डीटीपी विभाग की ओर से कराए गए सर्वे में बिल्डिंग प्लान के नियमों का उल्लंघन पाया गया। मकानों में रहने के बजाय क्लीनिक, ब्यूटी पार्लर, मेडिकल स्टोर, प्रॉपर्टी डीलर कार्यालय खोले गए हैं। नियमों का पालन न करने वाले मकान मालिकों को पहले नोटिस जारी किया गया। अब मकान मालिकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के बाद मकान सीलिंग की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी।

- मनीष यादव, डीटीपी प्रवर्तन गुरुग्राम ने कहा, ''आवासीय कॉलोनियों के मकानों में व्यावसायिक गतिविधियां नहीं चलाई जाती हैं। आठ कॉलोनियों में कराए सर्वे में 35 मकानों में व्यावसायिक गतिविधियां संचालित होती मिलीं। एफआईआर के लिए पुलिस आयुक्त को पत्र लिखा है।''

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like