Agro Haryana

Currency Printing Rate: 10,100 और 500 रूपए के नोट की छपाई में इतना आता है खर्चा, जानिए आप भी

Note printing cost in india: आज इस महंगाई के समय में कोई भी काम बिना पैसे के नहीं होता है। हर जगह हमें पैसे खर्च करने पड़ते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नोट की छपाई में कितना खर्च आता है। आइए जानते हैं 10,100 और 500 रूपए के नोट की छपाई में कितना खर्चा आता है-
 | 
Currency Printing Rate: 10,100 और 500 रूपए के नोट की छपाई में इतना आता है खर्चा, जानिए आप भी

Agro Haryana, Digtal Desk- नई दिल्ली: अगर हमें बाजार से कोई सामाना खरीदना हो या कहीं सैर सपाटे पर जाना हो, हर जगह रुपए खर्च करने पड़ते हैं। रुपयों के बिना कोई काम नहीं होता है।

लेकिन क्या आपको पता है कि हम लोग रोजाना जिन 10, 100 और 500 रुपयों तक के नोट को खर्च करते हैं इनकी छपाई का खर्च (Note Printing Cost) कितना होता होगा।

आप और हम जो करेंसी नोट रोज यूज करते हैं, उनकी छपाई पर केंद्र सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) को अच्‍छा खासा खर्च करना पड़ता है. महंगाई बढ़ने के साथ ही नोटों को छापने पर आने वाली लागत (cost of printing notes) भी बढ़ गई है.

कागज और स्‍याही की कीमतों में साल 2021 के बाद भारी उछाल आया है. आपको यह जानकार हैरानी होगी कि RBI को 500 रुपये के नोट से ज्यादा खर्च 200 रुपये के नोट की छपाई पर करना पड़ता है.

इसी तरह 10 रुपये के नोट की छपाई की लागत 20 रुपये के नोट से कहीं ज्यादा है. इसी तरह सिक्‍कों की ढलाई सरकार को नोट छापने से महंगी पड़ती है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि करेंसी नोटों की छपाई (printing of currency notes) देश के 4 प्रेस में किया जाता है.

2 प्रेस आरबीआई की जबकि 2 केंद्र सरकार की है. आरबीआई की प्रेस मैसूर और सालबोनी में हैं जबकि भारत की प्रेस नासिक और देवास में हैं. फिलहाल देश में 2,000 रुपये का नोट सबसे बड़ा है. लेकिन, अभी यह नोट भारतीय रिजर्व बैंक नहीं छाप रहा है.

96 पैसे में छपता है 10 रुपये का 1 नोट

एक रिपोर्ट के मुताबिक, नोटों की छपाई (printing of notes) करने वाली कंपनी भारतीय रिजर्व बैंक नोट मुद्रण लिमिटेड (BRBNML) से आरटीआई के जरिए मिली जानकारी के मुताबिक, वित्त वर्ष 2021-22 (FY22) में 10 रुपये के 1 हजार नोट छापने पर 960 रुपये खर्च करने पड़े. इस तरह एक नोट की प्रिंटिंग का खर्च 96 पैसे था.

बता दें कि भारतीय के केंद्रीय बैंक (central bank news) को 20 रुपए के एक हजार नोट छापने पर 950 रुपये खर्च करने पड़ते हैं. मतलब 95 पैसे प्रति नोट. इस तरह 20 रुपये के हजार नोट छापने से ज्‍यादा खर्च 10 रुपये के हजार नोट छापने पर होता है.

50 रुपये के 1 हजार नोट छापने पर साल 2021-22 में आरबीआई को 1,130 रुपये खर्चेने पड़े. 100 रुपये के 1 हजार नोट छापने पर रिजर्व बैंक को 1,770 रुपये की लागत आई.

200 रुपये का नोट छापना है सबसे ज्‍यादा महंगा

जानकारी के लिए बता दें कि 200 रुपये के 1 हजार नोट छापने पर रिजर्व बैंक (RBI News) को 2,370 रुपये खर्च करने पड़े. 200 रुपये का नोट अब खूब प्रचलन में है.

200 रुपये के नोट छापने के मुकाबले 500 रुपये के नोट प्रिंट करने पर आरबीआई को कम रुपये खर्च करने पड़ते हैं. 500 रुपये के एक हजार नोटों की छपाई पर 2,290 रुपये लागत आती है.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like