Agro Haryana

CIBIL Score : सिबिल स्कोर खराब होने पर अपनाएं ये 5 तरीके, मिनटों में हो जाएगा ठीक

CIBIL Score : आजकल हर किसी को कभी न कभी लोन लेना पड़ जाता है। लेकिन उसके लिए सिबिल स्कोर ठीक होना चाहिए। क्योंकि लोन लेने के लिए सिबिल स्कोर काम आता है। तभी बैंक लोन देने के लिए तैयार होता है। अगर आपका भी सिबिल स्कोर खराब हो गया है तो इन 5 तरीकों को जरूर अपना लें। मिनटों में ठीक हो जाएगा आपका सिबिल स्कोर-
 | 
सिबिल स्कोर खराब होने पर अपनाएं ये 5 तरीके
Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली : आज के समय में व्यक्ति को कभी न कभी तो लोन की जरूरत पड़ ही जाती है। हमें कई बार अचानक पैसों की जरूरत पड़ जाती है। जैसे कि घर में कोई मेडिकल इमरजेंसी हो गई, या घर बनवाना है या फिर जमीन लेनी है। 

ऐसे में हम पैसों का इंतजाम अमूमन लोन लेकर करते हैं। लेकिन, अगर आपको आसानी से कर्ज चाहिए, तो इसके लिए सिबिल स्कोर (CIBIL Score) अच्छा रखना होता है। आइए जानते हैं कि सिबिल स्कोर क्या होता है और अगर यह खराब हो गया है, तो इसे कैसे सुधारा जा सकता है।

लोन की EMI नहीं भरने वालों को High Court ने दी बड़ी राहत, बैंकों और फाइनेंस कंपनियों को लगाई कड़ी फटकार
पहले जान लें सिबिल स्कोर क्या होता है?

Credit Information Bureau India Limited (CIBIL) एक क्रेडिट इंफॉर्मेशन कंपनी है। इसे रिजर्व बैंक (Reserve Bank of India) से लाइसेंस मिला है और यह कंपनियों के साथ आम लोगों की कर्ज से जुड़ी गतिविधियों को ट्रैक करती है। इसकी रेटिंग को ही सिबिल स्कोर कहा जाता है।

जानकारी के लिए बता दें कि सिबिल स्कोर या सिबिल रेटिंग एक पैमाना (CIBIL rating is a scale) होता है, जिससे पता चलता है कि लोन लेने और उसे वापस चुकाने में आपका रिकॉर्ड कितना अच्छा है। 

यह 300 से 900 के बीच होता है। 300 से 600 का मतलब है कि आप लोन चुकाने में बहुत बुरे हैं। वहीं, 750 से 900 का सिबिल स्कोर बताता है कि आपका कर्ज लौटाने का रिकॉर्ड बेहद शानदार है।

सिबिल स्कोर खराब हो गया तो करें ये काम

मान लों अगर आपका सिबिल स्कोर 750 से कम आया, तो आपको कर्ज मिलने में मसला हो सकता है। हो सकता है कि आपको क्रेडिट कार्ड भी न मिले। लेकिन, अच्छी बात यह है कि सिबिल स्कोर सुधारा भी जा सकता है। आइए जानते हैं सिबिल स्कोर सुधारने के पांच तरीके।

निश्चित समय पर चुकाए कर्ज

आपने कर्ज ले रखा है और अगर आप समय पर कर्ज नहीं चुकाते, तो इसका सिबिल स्कोर (cibil score) पर काफी बुरा असर पड़ता है। आपको EMI का पेमेंट हमेशा वक्त पर करना चाहिए, क्योंकि इसमें देरी पर न सिर्फ पेनल्टी लगती है, बल्कि क्रेडिट स्कोर भी कम हो जाता है।

अच्छा क्रेडिट बैलेंस रखें मेंटेन

जानकारी के लिए बता दें कि आपके पास होम लोन और कार लोन जैसे सिक्योर्ड लोन (secured loan) के साथ पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड जैसे अनसिक्योर्ड लोन (unsecured loan) का ठीकठाक तालमेल होना चाहिए। बैंक और NBFC अमूमन सिक्योर्ड लोन वालों को ज्यादा पसंद करते हैं।

मान लों अगर आपके पास अनसिक्योर्ड लोन अधिक हैं, तो अच्छे क्रेडिट बैलेंस (credit history) के लिए पहले उनका भुगतान कर देना चाहिए। अगर आपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया है, तो कोशिश करें कि उसे तय तारीख से पहले भर दें। यह आपके क्रेडिट स्कोर को सुधारने के लिए अच्छी योजना हो सकती है।

क्रेडिट कार्ड में बकाया ना रखें

आजकल अधिकतर लोग क्रेडिट कार्ड (Credit card users) का इस्तेमाल करते है। अगर आपने क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल किया है, तो कोशिश करें कि उसे तय तारीख से पहले भर दें। यह आपके क्रेडिट स्कोर को सुधारने के लिए अच्छी योजना हो सकती है।

किसी का लोन गारंटर बनने से करें परहेज

आपको यदि आपना सिबिल स्कोर (good cibil score) सही रखना है तो आपको ज्वाइंट खाता खुलवाने या किसी के लोन का गारंटर बनने से परहेज करना चाहिए। अगर दूसरी पार्टी डिफॉल्ट करती है, तो उससे आपका भी सिबिल स्कोर खराब हो सकता है। 

साथ ही आपको एक साथ कई लोन नहीं लेने चाहिए। अगर आप दूसरा लोन लेना चाहते हैं, तो कोशिश करें कि पहले वाला खत्म हो जाए। इससे क्रेडिट स्कोर बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।

लिमिट में करें क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल 

अगर आप अपने क्रेडिट कार्ड की लिमिट (credit card limit) का पूरा इस्तेमाल नहीं करते, तो आप अपना क्रेडिट स्कोर जल्दी बेहतर कर सकते हैं। 

कोशिश करें कि हर महीने क्रेडिट लिमिट का सिर्फ 30 फीसदी ही खर्च हो। इससे ज्यादा के खर्च से जाहिर होता है कि आप बिना सोचे-समझे पैसे उड़ाते हैं और आपकी कर्ज पर निर्भरता अधिक है।

साथ ही आपको कर्ज लेते समय रीपेमेंट (loan repayment) के लिए लंबी अवधि चुननी चाहिए। इससे EMI कम रहेगी और आपको कर्ज चुकाने के लिए लंबा वक्त मिल जाएगा। आपके डिफॉल्ट करने की गुंजाइश भी कम रहेगी और आपका सिबिल स्कोर अपनेआप बेहतर होता जाएगा।

क्रेडिट स्कोर सुधारने में लगेगा इतना समय

बता दें कि इसका जवाब काफी हद तक आपकी आर्थिक स्थिति पर निर्भर करता है। अगर आप समय पर कर्ज चुकाते हैं और क्रेडिट कार्ड से होने वाले खर्च करते हैं, तो आपका क्रेडिट स्कोर 4 से 13 महीनों में बेहतर हो सकता है। लेकिन, मूल मंत्र वही है कि आपको पैसा खर्च करने के मामले में अनुशासित होना पड़ेगा।

ऐसे चेक करें CIBIL Score...

- https://www.cibil.com/पर जाएं।

- 'Get your CIBIL Score' पर क्लिक करें।

- अपना नाम, ई-मेल आईडी और पासवर्ड टाइप करें। एक आईडी प्रूफ सबमिट करें। फिर पिन कोड, जन्म तिथि और फोन नंबर दर्ज करें।

- फिर 'accept and continue' पर क्लिक करें।

- आपके रजिस्टर्ड फोन नंबर पर ओटीपी मिलेगा। उस टाइप करें और 'Continue' चुनें।

- इसके बाद go to dashboard सेलेक्ट करें और अपना क्रेडिट स्कोर जांचें।

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like