Agro Haryana

Chanakya Niti: ये 4 गुणों वाली स्त्री शादी के बाद घर में लगा देती है चार-चांद, खुशियां हो जाती है डबल

Chanakya Niti In Hindi: आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में कुछ ऐसी स्त्री के बारें में जिक्र किया है जिसके घर में आने के बाद रौनके लग जाती है घर स्वर्ग से सुंदर लगने लगता है. चाणक्य के अनुसार शादी के बाद ऐसी स्त्री घर की खुशियां डबल कर देती है. जीवन में चार-चांद लगा देती है...
 | 
ये 4 गुणों वाली स्त्री शादी के बाद घर में लगा देती है चार-चांद, खुशियां हो जाती है डबल

Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली:  इसमें कोई दोराय नहीं कि खुशहाल जीवन (happy life) के लिए लाइफपार्टनर का अच्छा (good life partner) होना बहुत जरूरी है। यही कारण है कि शादी से पहले व्यक्ति की हर तरह से जांच पड़ताल कर ली जाती है।

लेकिन ज्यादातर शादियां लड़के के पैसे और लड़की की खूबसूरती पर ही होती हैं। जिसका परिणाम आज किसी से छिपा नहीं है। इसके कारण ही लगातार तलाक और एक्स्ट्रामैरिटल अफेयर के मामले (Divorce and extramarital affair cases) बढ़ रहे हैं।

ऐसा कहा जाता है कि एक स्त्री अपने गुणों से किसी भी घर को स्वर्ग या नरक बना सकती है। यदि गहराई से इस बात को सोचा जाए तो इसमें बहुत सत्यता नजर आती है। यह बात तब और पक्की हो जाती है, जब चाणक्य नीति में स्त्री के ऐसे गुणों का वर्णन मिलता है.

जो पुरुष की सोई किस्मत भी जगा सकती है। आचार्य चाणक्य द्वारा बताए गए अच्छी पत्नी के ऐसे ही कुछ गुण (Some qualities of a good wife) यहां हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं।

मन से शांत हो

चाणक्य नीति में बताया गया है कि जो स्त्री मन से शांत हो वह किसी भी परिस्थिति में क्रोध नहीं करती है। वह जगह और समय के हिसाब से सोच समझकर कार्य करने में सक्षम होती है। ऐसी स्त्री अपने पति के जीवन को भी आसान बना देती है।

धैर्यवान हो

ऐसा कहा जाता है कि जल्दबाजी का काम शैतान का होता है और इसमें गड़बड़ी की संभावना भी बहुत अधिक होती है। लेकिन धैर्य से काम करने वाला व्यक्ति खराब से खराब स्थिति में भी बहुत ही उच्च कोटी का कार्य करता है।

ऐसे में चाणक्य धैर्यवान स्त्री से शादी करने की सलाह देते हैं। क्योंकि पुरुष के घर परिवार को चलाने की अहम जिम्मेदारी उसकी पत्नी पर ही होती है। 

धार्मिक हो

एक धार्मिक स्त्री (Religious woman) अपने पति के भाग्य (husband's fate) को पलटने की क्षमता रखती है। वह हमेशा अपने परिवार को अधर्म से बचाती है. 

जिससे परमात्मा की कृपा घर के लोगों पर हमेशा बनी रहती है। इसलिए चाणक्य हमेशा ईश्वर में विश्वास और धर्म का पालन करने वाली स्त्री से ही शादी करने की सलाह देते हैं।

सबका सम्मान करे

स्त्री में यदि सही संस्कार हो तो वह कभी भी घर में कलेष नहीं होने देती है। उसे पता होता है कि बड़े से लेकर छोटे तक सबको कैसे खुश रखना है। इतना ही नहीं वह गुस्से में भी किसी का निरादर नहीं करती है। ऐसी स्त्री के साथ शादी करने से पुरुष के बिगड़े संबंध भी सुधरने लगते हैं।

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like