Agro Haryana

Adani Group: गौतम अडानी के साथ हुई BHEL की डील, अब तक इस सरकारी कंपनी को दिया 4000 करोड़ का ऑर्डर

Adani Group : मिली रिपोर्ट के मुताबिक बता दें कि गौतम अडानी की बीएचईएल के साथ डील हुई है. अडानी ग्रुप की ओर से अब एक सरकारी कंपनी को 4,000 करोड़ रुपए का ऑर्डर दिया गया है. जिसमें बीएचईएल 800 MW की दो यूनिट लगाएगी. आइए जानते है अडानी ग्रुप के बारे में...
 | 
गौतम अडानी ने अब तक इस सरकारी कंपनी को दिया 4000 करोड़ का ऑर्डर
Agro Haryana, digital Desk- New Delhi: पोर्ट-एयरपोर्ट मैनेजमेंट से लेकर सीमेंट, पावर और एफएमसीजी सेक्टर में काम करने वाले अडानी ग्रुप ने अब एक सरकारी कंपनी को 4,000 करोड़ रुपए का ऑर्डर दिया है. अडानी ग्रुप की फ्लैगशिप कंपनी अडानी एंटरप्राइजेज की ओर से ये ऑर्डर दिया गया है.

अडानी ग्रुप ने सरकारी इंजीनियरिंग कंपनी भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड (बीएचईएल) को छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में 1,600 मेगावाट का थर्मल पावर प्लांट लगाने का ऑर्डर दिया है.

कंपनी वहां से पहले से स्थापित रायगढ़ थर्मल पावर प्लांट के विस्तार का दूसरा चरण विकसित करेगी. बीएचईएल की डील इसके लिए अडानी पावर के साथ हुई है.

बीएचईएल लगाएगी 800 MW की दो यूनिट-

बीएचईएल की ओर से जानकारी दी गई है कि इस प्लांट में 800-800 मेगावाट की दो यूनिट लगाई जाएंगी. वह इस परियोजना को डेवलप करने के लिए इक्विपमेंट की आपूर्ति भी करेगी, साथ ही उसे इसके निर्माण, ऑपरेशन और सुपरविजन का भी ठेका मिला है.

अडानी ने अंबुजा सीमेंट कंपनी में भी किया निवेश-

इसके अलावा अडानी ग्रुप ने अपनी सीमेंट कंपनी अंबुजा सीमेंट्स में भी 6,661 करोड़ रुपए का निवेश करने का ऐलान किया है. इस निवेश के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी सीमेंट कंपनी में उसकी हिस्सेदारी 3.6 प्रतिशत बढ़कर 66.7 प्रतिशत हो गई है.

अडानी ग्रुप ने अंबुजा सीमेंट्स में 21.20 करोड़ वारंट को 314.15 रुपए प्रति शेयर के भाव पर खरीदा है. कंपनी के बोर्ड ने प्रमोटर फर्म हरमोनिया ट्रेड एंड इन्वेस्टमेंट के शेयरों को अडानी के शेयरों में बदलने की मंजूरी दे दी है.

उद्योगपति गौतम अडानी के स्वामित्व वाली कंपनी अंबुजा सीमेंट्स की ओर से एक बयान में कहा गया है कि इस निवेश से अडानी ग्रुप को सीमेंट सेक्टर में फायदा होगा.

अंबुजा सीमेंट्स अपनी प्रोडक्शन कैपेसिटी बढ़ाने पर लगातार फोकस कर रहा है. साल 2028 तक उसकी योजना अपनी कैपेसिटी को बढ़ाकर 14 करोड़ टन प्रति वर्ष करने की है.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like