Agro Haryana

UP News : यूपी का ये है सबसे अमीर आदमी, ऐसे शुरु हुआ इनका सफर

UP News : दुनिया के सबसे अमीर आदमी के बारे में तो आप जानते ही होंगे लेकिन आज हम आपको यूपी के सबसे अमीर आदमी के बारे में बताने जा रहे है जो 183 अरब की संपत्ति का मालिक है। हम जिस व्यक्ति की बात कर रहे है उनके प्रोडक्‍ट आज घर-घर में इस्‍तेमाल किए जाते हैं। आइए नीचे खबर में जानते है इनका सफर कैसे शुरु हुआ।     

 | 
यूपी का सबसे अमीर आदमी

Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली : अगर कोई आपसे दुनिया के सबसे अमीर इंसान का नाम पूछे, आप झट से एलन मस्क के बारे में बता देंगे। अगर आपसे भारत के सबसे अमीर व्यक्ति का नाम पूछा जाए, तो आप मुकेश अंबानी का नाम ले लेंगे। 

लेकिन क्या आपको देश के सबसे ज्यादा आबादी वाले राज्य उत्तर प्रदेश (यूपी) के सबसे रईस इंसान के बारे में पता है। हुरुन की ग्लोबल रिच लिस्ट में इन्हें भी जगह मिली है।

यूपी जैसे राज्य के सबसे अमीर इंसान का ताल्लुक देश के लगभग हर आम आदमी से है। उनके प्रोडक्ट हर रोज करोड़ों लोगों के घर में इस्तेमाल होते हैं। 

यहां बात हो रही है ‘घड़ी डिटर्जेंट’ (ghade detergent) बनाने वाले मुरलीधर ज्ञानचंदानी (Muralidhar Gyanchandani) की, वैसे उनके भाई विमल ज्ञानचंदानी यूपी के दूसरे सबसे अमीर इंसान हैं।

इतनी संपत्ति के हैं मालिक

कानपुर के रहने वाले मुरलीधर ज्ञानचंदानी (Muralidhar Gyanchandani) की संपत्ति का आकलन 183 अरब रुपए किया गया है। 

जबकि उनके भाई विमल ज्ञानचंदानी की संपत्ति 125 अरब रुपए के आसपास बताई जाती है। इस तरह दोनों की कुल संपत्ति 300 अरब रुपए से अधिक बैठती है।

हुरुन की लिस्ट में लगाई छलांग

दुनिया के अमीर लोगों की लिस्ट ‘(Hurun Global Rich List-2024)’  में मुरलीधर ज्ञानचंदानी ने इस साल लंबी छलांग लगाई है। 

पिछले साल उनकी रैंकिंग 2451 थी, जो अब 1632 हो गई है। उनके भाई विमल ज्ञानचंदानी की रैंक 2279 है। दोनों भाई ने अरबपति बनने का ये सफर सिर्फ 36 साल में पूरा किया है।

हुरुन की लिस्ट में इस साल भारत के 271 अरबपति शामिल हैं। इस बार लिस्ट में भारत से 167 अरबपति शामिल हुए हैं, जबकि 94 बाहर भी हो गए हैं।

ऐसे शुरू हुआ ‘घड़ी’ का सफर

‘घड़ी’ आज भारत के सबसे बड़े एफएमसीजी और डिटर्जेंट ब्रांड में से एक है। इसकी शुरुआत ज्ञानचंदानी बंधुओं के पिता दयालदास ज्ञानचंदानी ने की थी। 

पहले साबुन बनाने में तेल का इस्तेमाल होता था, दयालदास ज्ञानचंदानी ने इसमें तेल की जगह गिलिस्रीन का इस्तेमाल शुरू किया। देखते ही देखते उनका साबुन लोगों के बीच पॉपुलर हो गया और आज ये घर-घर में जाना पहचाना नाम है।

‘घड़ी’ ब्रांड की मालिक रोहित सरफैक्टेंट्स (RSPL) है। समय के साथ इस ग्रुप ने अपने बिजनेस को डायवर्सिफाई किया और लेदर प्रोडक्ट मार्केट में उतरी, जो कानपुर की सबसे बड़ी पहचान है। 

कंपनी ने Red & Chief ब्रांड नाम से पहले चमड़े के जूते बाजार में उतारे, फिर इसी ब्रांड नाम से ‘मेन्स एसेसरीज’ की एक कंप्लीट रेंज उतारी है। ये कंपनी प्रीमियम लेदर प्रोडक्ट्स को अफॉर्डेबल प्राइस पर उपलब्ध कराती है।

 
WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like