Agro Haryana

LIC में हिस्सेदारी पाने का सुनहरा मौका, सरकार ने बनाया ये प्लान

LIC : आप देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी के बारे में तो जानते है। जहां पर लोग अपने भविष्य को सुरक्षित बनाए रखने के लिए पैसा निवेश करते है। लेकिन हाल ही में एलआईसी को लेकर सरकार ने एक प्लान बनाया है. जिसमें हिस्सेदारी पाने का सुनहरा मौका मिल रहा है। सरकार छोटी-छोटी किस्तों में अपनी हिस्सेदारी बेचेगी। आइए जानते है इस प्लान के बारे में-                                
 | 
LIC में हिस्सेदारी पाने का सुनहरा मौका, सरकार ने बनाया ये प्लान
Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली : शेयर बाजार को एक बार फिर कुलांछे मारने का मौका मिल सकता है. सरकार की ओर से एक बड़ी खबर आई है कि चालू वित्त वर्ष में वह लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (LIC) और जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन (GIC) में अपनी और हिस्सेदारी बेच सकती है. सरकार इसके लिए बाजार की क्षमता का एनालिसिस कर रही है. इससे आम इंवेस्टर्स को भी कमाई का मौका मिलेगा.

रॉयटर्स ने सरकारी सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि सरकार को जीआईसी के लिए आयोजित किए गए इंवेस्टर्स रोडशो में अच्छा फीडबैक मिला है. इसलिए सरकार अब कई अलग-अलग किस्तों में इसकी 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के पक्ष में है.

जीआईसी के शेयर 5700 करोड़ मिलने की उम्मीद-

खबर में बताया गया है कि जीआईसी में हिस्सेदारी बेचने का फैसला उसकी शेयर प्राइस के आधार पर लिया जाएगा. इसमें 10 प्रतिशत हिस्सेदारी को धीरे-धीरे कम किया जाएगा. 

शुक्रवार को शेयर बाजार में कंपनी के शेयर की बंद कीमत के हिसाब से 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने पर सरकार को 5700 करोड़ रुपए मिलने की उम्मीद है. बीते 6 महीने में जीआईसी के शेयर में 45 प्रतिशत का उछाल देखा गया है.

LIC के लिए ये है सरकार का प्लान-

इतना ही नहीं सरकार एलआईसी में चरणबद्ध तरीके से अपनी हिस्सेदारी कम करने के पक्ष में है. सरकार ने 2022 में एलआईसी को शेयर बाजार में लिस्ट कराया था. सरकार इसमें अपनी 10 प्रतिशत हिस्सेदारी को 7 साल के अंदर और 25 प्रतिशत हिस्सेदारी को कुल 10 साल के अंदर कम करने की योजना पर काम कर रही है. सूत्रों का कहना है कि सरकार एलआईसी में हिस्सेदारी को छोटी किस्तों में बेच सकती है. 

ये बाजार की निवेश क्षमता और कंपनी के शेयर परफॉर्मेंस पर निर्भर करेगा. बीते छह महीने में एलआईसी का शेयर लगभग 54 प्रतिशत चढ़ा है. सरकार ने इंडेक्स फंड्स में एलआईसी को शामिल कराकर 1.5 प्रतिशत हिस्सेदारी कम करने का भी प्लान बनाया था.

एलआईसी को लेकर सूत्रों का कहना है कि कंपनी में छोटी सी हिस्सेदारी बेचना भी बाजार के लिए एक बड़ा एफपीओ ऑफर होगा. अगर सरकार एलआईसी की 1.5 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचती है तो बाजार में इसका मूल्य मौजूदा शेयर प्राइस के हिसाब से करीब 9200 करोड़ रुपए होगा.

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like