Agro Haryana

Bullet Train Project : बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट 2026 में होगा पूरा, रेलवे मंत्री ने दी जानकारी

Indian Railways : देश में पहला बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट बनना शुरु हो गया है। लेकिन सभी को इसके बन जाने का लंबे समय से इंताजार है। इसी के चलते हाल ही में रेलवे विभाग ने जानकारी दी है जिसमें कहा है कि बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट 2026 में पूरा होगा। इस बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए 100-फीसदी भूमि अधिग्रहण का कार्य पूरा हो चुका है। आइए जानते है नीचे खबर में पूरी जानकारी विस्तार से-
 | 
Bullet Train Project : बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट 2026 में होगा पूरा, रेलवे मंत्री ने दी जानकारी
Agro Haryana, Digital Desk-नई दिल्ली : Bullet Train Project-देश का सबसे बड़ा इंतजार जल्‍द पूरा होने वाला है। बुलेट ट्रेन के गलियारे का निर्माण कर रहे 'नेशनल हाई स्पीड रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड' (NHSRCL) ने एक आरटीआई अर्जी के जवाब में बताया है कि 508 किलोमीटर लंबी संपूर्ण बुलेट ट्रेन परियोजना (Bullet Train Project) के पूरे होने की तारीख का आकलन सारे कार्यों के आवंटन के बाद ही किया जा सकता है।

हालांकि, परियोजना से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बुलेट ट्रेन परियोजना पर प्रगति (Progress on Bullet Train Project) जारी है और 163 किलोमीटर 'वायाडक्ट', 302 किलोमीटर 'पियर' और 323 किलोमीटर 'फाउंडेशन' का निर्माण हो गया है।

सूरत और बिलिमोरा के बीच ट्रायल रन 2026 में होगा शुरू 

रेल मंत्री (Union Railway Minister Ashwini Vaishnav) ने कहा कि, ''पटरी के कार्यों के लिए 'वायाडक्ट' का कुल 35 किलोमीटर का हिस्सा सौंप दिया गया है। पूरे कॉरिडोर के सिविल कार्यों के लिए 100 फीसदी टेंडर और गुजरात में पटरी के कार्यों के लिए टेंडर प्रदान की जा चुकी हैं। 

गुजरात में सूरत और बिलिमोरा के बीच ट्रायल रन (bullet train trial) 2026 में शुरू होगा।'' एनएचएसआरसीएल के सूत्रों के मुताबिक महाराष्ट्र के हिस्से के लिए पहला सिविल अनुबंध मार्च 2023 में प्रदान किया गया था, क्योंकि महाराष्ट्र में परियोजना के लिए आवश्यक भूमि का एक बड़ा हिस्सा उपलब्ध नहीं था।

बता दें कि मध्य प्रदेश निवासी चंद्रशेखर गौर ने आरटीआई अर्जी (RTI application) के माध्यम से रेलवे से जानना चाहा था कि क्या एनएचएसआरसीएल संपूर्ण परियोजना के पूरी होने की अंतिम तारीख बताने की स्थिति में है। 

इस पर एनएचएसआरसीएल ने जवाब में कहा, ''मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल परियोजना के पूरी होने की तारीख का आकलन सभी टेंडर/पैकेज आवंटित होने के बाद किया जा सकता है।''

बुलेट ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए 100-फीसदी भूमि अधिग्रहण काम हुआ पूरा

बुलेट ट्रेन परियोजना की शुरुआत (Bullet train project started) साल 2017 में की गई थी और शुरुआत में इसके दिसंबर 2023 तक पूरे होने का अनुमान लगाया गया था लेकिन भूमि अधिग्रहण के मुद्दे और कोविड महामारी ने इसकी प्रगति को धीमा कर दिया। 

रेल मंत्रालय ने परियोजना (Railway Ministry) के पहले चरण में सूरत से बिलिमोरा के बीच 50 किलोमीटर पट्टी पर काम अगस्त 2026 तक पूरा होने की आधिकारिक घोषणा की है। उसने जनवरी 2024 में यह घोषणा भी की थी कि परियोजना के लिए शत-फीसदी भूमि अधिग्रहण हो चुका है। 

बता दें कि एनएचएसआरसीएल ने आरटीआई आवेदन के उत्तर में यह भी कहा कि अभी तक रेल पटरियां नहीं बिछाई गई हैं, हालांकि छह अप्रैल 2024 तक कुल 157 किलोमीटर लंबे मार्ग पर 'वायाडक्ट' (सेतु) बनाने का काम पूरा हो गया है।

केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव (Union Railway Minister Ashwini Vaishnav) ने बुलेट ट्रेन परियोजना के कॉरिडोर पर कामकाज की प्रगति की जानकारी देते हुए गत 28 मार्च को 'एक्स' पर पोस्ट किया था कि 295.5 किलोमीटर 'पियर' और 153 किलोमीटर 'वायाडक्ट' बनाने का काम पूरा हो गया है। परियोजना से जुड़े एक विशेषज्ञ ने बताया, ''पियर जमीन पर खड़े किए गए बड़े खंभे हैं। इन पर गर्डर रखकर वायाडक्ट बनाया जाता है।''

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like