Agro Haryana

11905 करोड़ की लागत से UP में बनाए जाएंगे 7 नए हाईवे, जल्द शुरु होगा निर्माण कार्य

UP News - यूपी वालों को जल्द ही एक नई सौगात मिलने वाली है। रिपोर्ट के मुताबिक बता दें कि यूपी में 7 नए हाईवे बनाए जा रहे है जिसकी लागत 11905 करोड़ रुपये है। इसका निर्माण कार्य जल्द ही शुरु होने वाला है। आइए नीचे खबर में जानते है इस प्रोजेक्ट के बारे में पूरी डिटेल-    

 | 
11905 करोड़ की लागत से UP में बनाए जाएंगे 7 नए हाईवे

Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली :  भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) पश्चिमी यूपी के कार्यक्षेत्र में आने वाले मध्य व पश्चिमी यूपी में जल्द ही सात नई परियोजनाओं का निर्माण कार्य शुरू कराने जा रहा है।

इन परियोजनाओं की कुल लंबाई 283 किमी. है। जिसकी लागत 11905 करोड़ रुपये है। कानपुर रिंग रोड, शाहजहांपुर-शाहाबाद बाईपास, मथुरा-हाथरस-बदायूं-बरेली तथा मुरादाबाद-ठाकुरद्वारा फोर-सिक्स लेन का काम इन परियोजनाओं में प्रमुखता से शामिल हैं।

एनएचएआई से मिली जानकारी के मुताबिक शाहजहांपुर से शाहाबाद बाईपास फोर लेन बनाया जाना है। इसके पैकेज 2-ए के टेंडर को स्वीकृत किया गया है।

इसकी कुल लंबाई 34.9 किमी. और परियोजना की कुल लागत 947.74 करोड़ रुपये है। इसी तरह कानपुर रिंग रोड एनएचडीपी फेज-एक का टेंडर भी हो गया है। इसकी लंबाई 24.559 किमी तथा लागत 1796 करोड़ रुपये है। 

बरेली-पीलीभीत-सितारगंज मार्ग बनेगा फोर-लेन-

बरेली-पीलीभीत-सितारगंज सेक्शन के पैकेज एक का फोर-लेन काम भी होना है। टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। इस परियोजना की लंबाई 32.5 किमी तथा लागत 1391.64 करोड़ रुपये है। इसी मार्ग के पैकेज दो का काम भी किया जाना है। जिसकी कुल लंबाई 38.3 किमी  और लागत 1464.19 करोड़ रुपये है। 

मथुरा-हाथरस-बदायूं-बरेली जुड़ेंगे फोर लेन से-

मथुरा-हाथरस-बदायूं-बरेली फोर लेन सड़क का काम भी स्वीकृत हुआ है। इस मार्ग के पैकेज दो की लंबाई 57.1 किमी तथा लागत 2289.52 करोड़ रुपये है। इसी परियोजना के पैकेज तीन की लंबाई 56.4 किमी और लागत 2009.11 करोड़ रुपये है। इस परियोजना का काम जल्द शुरू होगा। 

मुरादाबाद-ठाकुरद्वारा पैकेज दो का काम जल्द होगा शुरू-

मुरादाबाद-ठाकुरद्वारा पैकेज-दो का काम भी स्वीकृत होने के साथ ही टेंडर प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। एनएच-734 पर चार से छह लेन का यह मार्ग बनाया जाना है। परियोजना की लंबाई 38.77 किमी. और लागत 2006.82 करोड़ रुपये है। 

दो परियोजनाओं का काम ईपीसी मोड पर-

इनमें से कानपुर रिंग रोड और मुरादाबाद-ठाकुरद्वारा हाइवे का निर्माण कार्य ईपीसी मोड पर होना है। टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के साथ ही लेटर आफ इंटेट जारी कर दिया गया है। ईपीसी मोड के तहत इस परियोजना की लागत सरकार वहन करेगी। 

पांच परियोजनाएं बिल्ट, आपरेट व ट्रांसफार्मर माडल पर-

शाहजहांपुर-शाहाबाद बाईपास, बरेली-पीलीभीत-सितारगंज फोर लेन, मथुरा-हाथरस-बदायूं-बरेली फोर लेन का काम एचएएम मोड पर होना है। हाइब्रिड एन्युटी मोड पर होने वाले इस काम के तहत 40 फीसदी लागत सरकार वहन करेगी तथा शेष 60 फीसदी लागत विकासकर्ता खर्च करेगी।

विकासकर्ता द्वारा 60 फीसदी खर्च की जाने वाली धनराशि बिल्ट आपरेट एंड ट्रांसफर पर आधारित है। जिसके तहत विकासकर्ता सड़क बनाएगा, उसे आपरेट कर टोल वसूलेगा और फिर अनुबंध के तहत निश्चित अवधि पर इसे प्राधिकरण को ट्रांसफर करेगा।

एनएचएआई यूपी वेस्ट रिजनल आफिसर संजीव शर्मा ने बताया कि इन परियोजनाओं की टेंडर प्रक्रिया पूरी करने के साथ कांट्रैक्टर को लेटर ऑफ इंटेट जारी किया गया है। तीन-चार महीनों में इन परियोजनाओं का काम शुरू करा दिया जाएगा। दो साल के अंदर सभी परियोजनाओं को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। 

 
WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like