Agro Haryana

Alcohol Consumption: शराब के 1 पेग से भी हो सकती है ये परेशानी, स्टडी में हुआ खुलासा

Alcohol Facts: आज के समय में ऐसे बहुत से लोग हैं, जिन्हें शराब पीने की लत लग चुकी है। शराब पीने वाले अक्सर ये बात करते हैं कि कम सेवन करने से शरीर में नुकसान नहीं होता है, लेकिन आपको बता दें कि शराब के 1 पेग से भी ये परेशानी हो सकती है। इसके बारे में एक स्टडी में खुलासा हो चुका है। आइए जानते हैं इसके बारे में विस्तार से-
 | 
शराब के 1 पेग से भी हो सकती है ये परेशानी
Agro Haryana, Digital Desk- नई दिल्ली: अकसर हमने कई लोगों के मुंह से यह कहते हुए सुना होगा कि  'लाइट-लाइट लो, दवा है'। नहीं समझें? पीने के शौकीन कुछ ऐसी ही बात करते मिल जाएंगे। 

'अरे 1 पेग से कुछ नहीं होता, ज्यादा नहीं पीना चाहिए कि नाली में गिर जाओ, थोड़ा छोटा पेग बनाओ, वो एक दवा है।' क्या सच में दवा है? अगर आपके दिमाग में कुछ ऐसी बात पहले से है तो उसे निकाल दीजिए। 

जानकारी के लिए बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने आगाह किया है कि एक पेग या दो या एक ग्लास वाइन भी सेहत के लिए अच्छी नहीं है। मदिरा के शौकीनों के लिए यह बैड न्यूज हो सकती है लेकिन जान से बढ़कर भी तो कुछ नहीं है। 

आमतौर पर लोगों की ये धारणा है कि कम मात्रा में अगर लिकर पीजिए तो कोई नुकसान नहीं है। जी नहीं, राजधानी दिल्ली के कई कार्डियोलॉजिस्ट और कैंसर का इलाज करने वाले एक्सपर्ट डॉक्टरों का साफ कहना है कि WHO ने बिल्कुल सही कहा है। शराब शरीर के लिए ठीक नहीं है।

डॉक्टर की सलाह के अनुसार कार्डियो प्रोटेक्शन में शराब की थेरपी जैसी कोई भूमिका नहीं है, यहां तक कि कम मात्रा में भी यह हमारे शरीर को भारी नुकसान पहुंचा सकती है। इसमें डॉक्टर कैंसर की ओर भी इशारा कर रहे हैं। 

एम्स के कार्डियोलॉजिस्ट अंबुज रॉय ने बताया कि हमें यह समझना होगा कि कई स्टडीज में सामने आया है कि पश्चिमी देशों से बिल्कुल उलट भारतीयों या दक्षिण एशियाई लोगों के लिए शराब का सेवन हर तरह से नुकसानदायक होता है। इससे हार्ट को कोई फायदा नहीं होता है। 

एक स्टडी में अंबुज भी शामिल रहे हैं। उन्होंने बताया कि शराब पीने से कैंसर (cancer caused by drinking alcohol) का जोखिम होता है, जो अब साबित भी हो चुका है। एक्सपर्ट ने कहा कि ऐसे में हमारे पास स्वास्थ्य के लिहाज से शराब पीने की कोई वजह नहीं है।

शराब का सेवन नही है कोई दवा

धर्मशिला नारायण सुपरस्पेशियलिटी अस्पताल में कार्डियोलॉजी के डायरेक्टर डॉ. आनंद कुमार पंढेर ने कहा कि यह कहना गलत है कि शराब की कम मात्रा लेना सेफ है।

उन्होंने कहा, 'अगर कोई एल्कोहल (alcohol is not good for health) नहीं पीता है तो पीने के लिए थेरपी के तौर पर सलाह नहीं दी जाती है। हालांकि यदि कोई व्यक्ति शराब पीता है तो उससे कम से कम मात्रा तक खुद को सीमित करने के लिए कहा जाता है।' 

आमतौर पर ऐसा देखा जाता है कि लोग फिल्में देखकर या पार्टी में झूठी शान के चक्कर में शराब पीना या सिगरेट पीना शुरू करते हैं। आजकल कॉलेज लाइफ में ही बच्चों में यह चस्का बढ़ता जा रहा है, जो खतरनाक है।

शराब पीने से बढ़ेगा ब्लड प्रेशर

एक्सपर्ट की रिसर्च में यह खुलासा हुआ है कि एल्कोहल निश्चित रूप से नुकसानदेह है। उन्होंने बताया कि शराब अवसाद देने वाली चीज है और यह हमारे मसल्स को कमजोर करती है, जिसमें हार्ट भी शामिल है। 

उन्होंने समझाया कि एल्कोहल की कम मात्रा (low alcohol content) भी ब्लड प्रेशर बढ़ाती है और ज्यादा बीपी से कार्डियोवस्कुलर बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है, आगे चलकर ब्लॉकेज या अंगों को नुकसान पहुंच सकता है।

कैंसर की सबसे बड़ी वजह है शराब

बता दें कि मैक्स कैंसर इंस्टिट्यूट के चेयरमैन डॉ. हरित चतुर्वेदी ने कहा कि ब्रेस्ट, लिवर, कोलन, ओरल समेत कई प्रकार के कैंसर का शराब पीने से सीधा संबंध है और ये साबित भी हो चुका है कि एल्कोहल पीने (alcohol consumption) से हालात खराब होते जाते हैं। 

उन्होंने कहा कि जहां तक कैंसर का मामला है तो शराब पीने की कोई सुरक्षित मात्रा नहीं है और कम मात्रा भी शरीर को डैमेज करती है। एक्सपर्टस ने कहा कि शराब की एक बूंद भी शरीर के लिए नुकसानदायक (Alcohol is harmful for the body) साबित हो सकती है। 

उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने साफ बताया है कि शराब कैंसर की नंबर 1 वजह है, मतलब यह ऐसी चीज है जो शरीर में कई तरह के कैंसर की वजह बन सकती है। उन्होंने कहा कि जैसे स्मोकिंग से सीधे फेफड़े का कैंसर हो सकता है, इसी तरह कई ऐसी चीजें हैं जो आगे चलकर शरीर में कैंसर की वजह बन सकती हैं।

WhatsApp Group Join Now

Around The Web

Latest News

Trending News

You May Also Like